बीफ के बाद अब Momos पर बैन की मांग, जम्मू में BJP नेता ने निकाला मार्च

1200px-Momo_nepal
श्रीनगर: बीफ के बाद अब देशभर में स्ट्रीट फूड ‘मोमोज’ पर बैन लगाने की मांग शुरू हो गई है। पिछले 15 दिन से जम्मू-कश्मीर में इसके लिए रैलियां निकाली जा रही हैं। इस मुहिम को लीड बीजेपी के एमएलसी रमेश अरोड़ा लीड कर रहे हैं। उन्होंने जम्मू में सैकड़ों लोगों के साथ मोमोज की ब्रिकी के खिलाफ मार्च निकाला। अरोड़ा ने इसे शराब और ड्रग से ज्यादा खतरनाक बताया है।
जम्मू में गुरुवार को निकाले गए मार्च में कई धर्मगुरु भी शामिल हुए। इस दौरान लोगों को मोमोज खाने से नुकसान के लिए जागरूक किया गया। प्रदर्शनकारी अपने साथ तख्तियां और बैनर लेकर आए थे, जिन पर ‘momos silent killer’ और ‘momos-slow death’ जैसे स्लोगन लिखे थे।
बता दें कि ईस्ट से नॉर्थ इंडिया तक लोगों के पसंद बन चुका मोमोज अब जम्मू-कश्मीर में भी लोगों को खूब भा रहा है। यहां जगह-जगह गलियों और बाजारों में मोमोज के स्टॉल खुल चुके हैं। इन्हें खाने वालों में यूथ की तादाद ज्यादा है।

d6176e3fafa69036f41442b3737ab644कैंसर की वजह बन सकता है मोमोज: बीजेपी नेता
अरोड़ा ने दावा किया है कि- ”मोमोज में स्वाद बढ़ाने के लिए अजिनोमोटो (मोनोसोडियम ग्लूटामेट) का इस्तेमाल किया जाता है, जो कि हेल्थ के लिए नुकसानदेह है। कई जानलेवा बीमारियों के साथ कैंसर की वजह भी बन सकता है। इसीलिए हम लोग भारतीय खानपान पर ‘चाइनीज फूड’ के निगेटिव असर के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं।”हमारा विरोध जारी रहेगा। जब तक कि केंद्र और राज्य सरकारें मोमोज की ब्रिकी पर बैन ना लगा दें। क्योंकि ये भारत की युवा पीढ़ी को मार रहा है।”
Advertisements