सेंटरों को मेल से भेजा प्रश्न पत्र

Kazi_Nazrul_University_Asansol
बीएससी सेकेंड सेमेस्टर के ऑर्गेनिक केमेस्ट्री पेपर पर सवाल
आसनसोल: काजी नजरूल विश्वविद्यालय (केएनयू) के अधीनस्थ कॉलेजों में बीएससी सेकेंड सेमेस्टर के ऑर्गेनिक केमेस्ट्री पेपर की परीक्षा में केएनयू स्तर से कॉलेजों में मेल कर प्रश्न पत्र भेजे जाने से नया विवाद शुरू हो गया है. कई कॉलेजों ने आशंका जतायी है कि इससे प्रश्न पत्र के लीक होने की आशंका है. यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ साधन चक्रवर्ती ने कहा कि उन्हें इसकी शिकायत मिली है. बुधवार को इस मुद्दे पर संबंधित अधिकारियों से जानकारी लेकर उचित कार्रवाई करेंगे.
केएनयू के अधीन संचालित विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्य और टीआइसी ने मेल से प्रश्न पत्र भेजने की प्रक्रिया पर सवाल खड़े किये हैं. उन्होंमे कहा कि कॉलेज के कंप्यूटर इनबॉक्स मेल को कॉलेज में काम कर रहे अध्यापक, कॉलेज के नन टीचिंग स्टॉफ व अन्य कर्मचारी के द्वारा भी ऑपरेट किया जाता है. इस स्थिति में यदि मेल से प्रश्नपत्र भेजे जायेंगे तो उनकी लीक होना काफी आसान है. उन्होंने कहा कि यह विश्वविद्यालय का गैर जिम्मेदाराना रवैया है.
उन्होंने कहा कि प्रश्न पत्र गोपनीय रहने चाहिए. यूं इस तरह मेल पर प्रश्न पत्र भेजे जाने से इसकी गोपनीयता को लेकर विश्वविद्यालय प्रबंधन पर सवाल उठेंगे. कॉलेज के आधिकारिक मेल पर प्रश्न पत्र भेजे जाने के बाद इसे डाउनलोड कर इसकी फोटो कॉपी कर परीक्षा के दौरान स्टूडेंटसों को दिया जायेगा. फोटो कॉपी करने के क्रम में ही प्रश्नपत्र के लीक होने की सर्वाधिक संभावना है. उन्होंने कहा कि सामान्यत: प्रश्नपत्रों को बंद लिफाफे में सील कर भेजे जाने का प्रावधान है.
केएनयू के अधीन एक कॉलेज के प्रिंसिपल ने कहा कि केएनयू स्तर से केमेस्ट्री विषय की परीक्षा की तिथि का निर्धारण भी नहीं किया गया है. इस स्थिति में केएनयू प्रबंधन के पास प्रश्न पत्रों को छाप कर भेजने का पर्याप्त समय था तो मेल पर भेजे जाने के पीछे क्या कारण है, यह जांच का विषय है. उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले की जानकारी संबंधित विषय के स्टूडेंटस को संभवत: हो गयी हो और बहुत संभव है कि परीक्षा से पहले  वे प्रश्नपत्र रदद किये जाने की मांग भी करें. उन्होंने कहा कि कॉलेज सूत्रों से स्टूडेंटस में इस विषय को लेकर अंदरूनी आक्रोश बढ़ने की संभावना है.
मेल से परीक्षा संबंधी निर्देश: 
केएनयू के उप परीक्षा नियंत्रक डॉ निखिलेश बारीक ने कहा मेल से प्रश्नपत्र नहीं सिर्फ परीक्षा संबंधित निर्देश भेजे गये हैं.
जानकारी लेने के बाद कार्रवाई:
केएनयू के कुलपति डॉ चक्रवर्ती ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी मिली है. वे बुधवार को यूनिवर्सिटी जाकर पूरी जानकारी लेंगे तथा उचित कार्रवाई करेंगे.
Advertisements