अवैध शराब की बिक्री के रोकथाम में प्रशासन नाकाम

2016_4largeimg209_Apr_2016_090244600

उधवा: राधानगर थाना क्षेत्र के अमानत पंचायत में अवैध शराब की बिक्री तथा शराबियों की हरकतों से आम लोग परेशान हैं। स्थानीय शराबियों की बदमाशियाँ इतनी बढ़ गए हैं कि महिलाओं को रात में निकलना मुश्किल साबित हो रहा है। प्रखंड क्षेत्र के कई इलाकों में अब भी धड़ल्ले से अवैध शराब की बिक्री हो रही है। अवैध शराब की बिक्री को रोकने के लिए प्रशासन नाकाम सावित हो रहा है।

बिन टोला गांव की महिलाओं का कहना है कि गांव के ही गुर्धन मंडल एवं दिजेन मडंल मंगलवार की देर रात शराब पीकर उत्पात कर रहे थे, दोनों की बदमाशियाँ इतनी बढ़ गयी कि दोनों आपस में लड़ गए और अंत में तेज़ धार हथियार व लाठी से एक दूसरे पर वार कर दिए, जिससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए।

विदित हो की स्थानीय एकजुट महिला समूह के प्रयास से अमानत पंचायत के बिन टोला एवं हरि बोल टोला गांव में सालों से शराब की बिक्री पूर्ण रुप से बंद कर दिया था। एक वर्ष पूर्व ही यह अभियान चलाया गया था। अभियान के दौरान महिलाओं ने दर्जनों अवैध शराब की दुकानों को तोड़कर कर देसी तथा विदेशी शराबों को नष्ट कर दिया था, महिलाओं ने इसका लिखित आवेदन राधानगर थाना में भी दिया। राधानगर थाना पुलिस इस बात पर इंकार नहीं कर सकती।

गाँव की महिलाओं का कहना है कि कुछ दिन से गणेश मंडल ,टुनीया बेवा, कृष्णा मंडल, धीरेंन मंडल, सुनील मंडल एवं घोतुआ मंडल फिर से अवैध शराब की दुकान संचालित कर रहे हैं। सूत्रों के अनुसार उक्त दुकानदार बड़ी चलाकी से अपने घर में किराना दुकान तथा पान का दुकान संचालित करते हैं यह दुकान तो बस नाम का है, लेकिन इसके आड़ में शराब को कालाबाज़ारी की जा रही है,शौचालय के अंदर तथा चापाकल के नाली में शराब की पेटी को छिपा कर रखते हैं, ग्राहकों को अपने अंदाज से गोपनियता से देते हैं।

संवाददाता: राजेश कुमार, उधवा, साहेबगंज।

Advertisements