उधवा में गंगा कटाव जारी, लोगों में भय का माहौल।

WhatsApp Image 2017-08-22 at 13.16.07

उधवा: गंगा के जल स्तर में लगातार वृद्धि के साथ साथ उधवा प्रखंड के निचले इलाके में गंगा तट कटाव तेजी से हो रहा है। दूषित पर्यावरण तथा गंगा कटाव के रोक थाम के उद्देश्य से नमामि गंगे परियोजना विभाग द्वारा गंगा किनारे लगायें गये सैकड़ो वृक्ष, तार, खम्भे गंगा नदी में गीरते नज़र आ रहे हैं। सूत्रों के अनुसार लगभग 150 मीटर वृक्ष लगी भूमि गंगा नदी में लिप्त हो गयी है।

whatsapp-image-2017-08-22-at-13-16-50.jpegरेंजर ऑफिसर प्रेम चांद शुक्ला ने बताया की कुछ दिन पहले ही उधवा के नकिर टोला, खट्टी टोला, सुभान टोला, प्राणपुर गांव के गंगा किनारे किनारे नमामि गंगे परियोजना के तहत अर्जुन, अमरूद, आम, पिपल,सेगून, शिसा आदि के दो लाख से उपर वृक्ष का चारा लगाया गया हैं। वृक्ष लगाने का काम पूरा ही नहीं हुआ और गंगा कटाव से सैकडों पौधे गंगा मे बह गए। हालाँकि शुक्ला ने बताया कि बरसात के बाद कटाव स्थान में पुनः पौधरोपण किया जाएगा। कटाव इतनी तेजी से हो रहा हैं की गंगा नदी किनारे बसे लोग अपने अपने आशियाना को सुरक्षित बनाने में जुटे हुए हैं। कुछ दिन से लगातार बारिश एवं गंगा के जलस्तर में वृद्धि होने के कारण गंगा कटाव के साथ साथ बाढ़ की आशंका बनी हुई है। लोग अपने-अपने आशियाना को सुरक्षित बनाने के लिए घर के चारो तरफ मिट्टी तथा पेड़ पौधे के सहारे बचाव कर रहे है।

स्थानीय मुखिया सिराजुल हक ने बताया कि कुछ दिन से गंगा के जलस्तर में वृद्धि होने के कारण गंगा का पानी तेज रफ्तार से राजमहल से पश्चिम बंगाल के सीमा फरक्का की ओर प्रवाह हो रहा है। गंगा के पानी के रफ्तार तेज होने के कारण प्रतिदिन 15 से 20 फीट जमीन गंगा मे समा जाता है। लोगों का मानना है कि लगातार इस तरह का कटाव जारी रहा तो खट्टी टोला, सुभान टोला, नकीर टोला आदि गांव गंगा में समा जाने में देर नहीं लगेगी।

संवाददाता: राजेश कुमार, उधवा, साहेबगंज

Advertisements