पांच हजार रुपैया रिश्वत लेते धर दबोचा

WhatsApp Image 2018-02-06 at 18.54.26
झरिया (धनबाद): भागा स्थित लोदना क्षेत्रीय कार्यालय में मंगलवार को सीबीआई की दस सदस्यी टीम ने भूसंपदा विभाग के सहायक राजस्व निरीक्षक नरेश निषाद को सुरुंगा देव टोला निवासी रैयत पूर्व बीसीसीएल कर्मी एवं झाकोमयू के नेता सुदामदेव एवं अरविंद राय से पांच हजार रुपैया रिश्वत लेते धर दबोचा। शिकायतकर्ता रैयतों ने बताया की साउथ तीसरा प्रबंधन ने आठ वर्ष पूर्व उनकी जमीन को अधिकृत कर लिया है तथा उस जमीन पर कोयला उत्पादन भी किया जा रहा है। परन्तु नौकरी और मुआवजा के लिए तैयार की गयी फाइल को बढ़ाने के लिए भूसंपदा विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों द्वारा रिश्वत के लिए हमेशा दौड़ाया जा रहा था। अंततः सहायक राजस्व निरीक्षक नरेश निषाद ने उससे पांच हजार रुपैये की मांग किया, जिसे उसने अपनी स्मर्थत्ता जताते हुए निषाद से मदद की अपेक्षा की, परन्तु वे नहीं माने और कहे की रिश्नवत की रकम नहीं दोगे तो तुम्हारा काम नहीं होगा, क्योंकि उक्त राशि में अधिकारी और अन्य कर्मचारियों की भी हिस्सेदारी होगी तभी तुमहारा फाइल आगे बढ़ेगा की बात उसने कही।
फलतः विवश होकर वह सीबीआई की शरण में जाकर न्याय की मांग की। जिसके उपरांत सीबीआई की टीम ने आज छापेमारी की कार्रवाई किये है। बताया जाता है की माले नेता अरविंद राय की जमीन लगभग 2.5 एकड़ एवं सुदामदेव का 8.6 एकड़ है, जो सुरुंगा मौजा संख्या 155 में था। जिसे साउथ तीसरा परियोजना प्रबंधन ने आठ वर्ष पूर्व अधिकृत कर उत्पादन कार्य कर रहा है, परन्तु अबतक नौकरी और मुआवजा के लिए प्रबंधन उक्त रैयतों को टहला रही थी। तदुपरांत सीबीआई अधिकारी राजीव आनंद के नेत्रुत्व में टीम के सदस्यों ने भूसंपदा विभाग केसहायक राजस्व निरीक्षक नरेश निषाद की रंगेहाथ गिरफ्तारी के लिए जाल बिछाया। जिसके तहत नरेश ने रिश्वत की रकम पांच हजार लेने के लिए रैयत सुदमदेव एवं अरविंद को सुनील टाकीज़ के पीछे बुलाया जहा रैयतों से रुपैये लिया, तभी सीबीआई की टीम ने उसे वहां पकड़ा, लेकिन नरेश ने टीम सदस्यों को झटका देकर भागने लगा तभी सीबीआई के लोगो ने पिस्तौल निकालकार नरेश को चेतावनी देते हुए रुकने को कहा तब डर से नरेश रुक गया जिसे टीम के सदस्यों ने उसे पकड़कर रिश्वत की रकम को बरामद कर लिया है। सीबीआई की टीम नरेश को कब्जे में ले पूछताछ कर जाँच कर रही है।
संवाददाता: राजेश कुमार वर्मा, विशेष संवाददाता, धनबाद। 
Advertisements