कोल इंडिया का कार्यालय कोलकाता से हटाकर झारखंड में स्थापित करे: विजय हांसदा

साहेबगंज (झारखंड): राजमहल लोकसभा क्षेत्र के सांसद विजय हांसदा ने लोकसभा के सदन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कोल इंडिया लिमिटेड का कार्यालय कोलकाता से हटाकर झारखंड राज्य के कोयला उत्पादन वाले किसी जिले में स्थापित करने की मांग की है। सदन में सांसद विजय हांसदा ने कहा कि देश के 38 प्रतिशत कोयले का उत्पादन झारखंड राज्य में होता है। झारखंड राज्य के 24 में से 18 जिलों में कोयले का उत्पादन होता है। उड़ीसा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, असम एवं पश्चिम बंगाल में कोयले का उत्खनन कार्य होता है। परंतु सबसे ज्यादा उत्पादन झारखंड राज्य में होता है। अधिकांश कोयला उत्पादन का संचालन एवं प्रबंधन झारखंड राज्य में होता है, परंतु कोल इंडिया का मुख्यालय कोलकाता में रहने से इसका लाभ झारखंड को मिलने के बजाए पश्चिम बंगाल को मिलता है। जो सरासर अन्याय है। साथ ही उन्होंने कहा कि मुख्यालय कोलकाता में रहने के कारण झारखंड के युवा वर्ग को रोजगार नहीं मिल पा रहा है। कोल इंडिया लिमिटेड का कार्यालय कोलकाता में रहने से और अधिकांश उत्पादन झारखंड में होने से कोल इंडिया लिमिटेड कोयले की खानों का कार्य निगरानी और उत्पादन पर अच्छे से निगरानी नहीं कर पा रहा है। कोलकाता में मुख्यालय रहने से कोल् इंडिया लिमिटेड का राजस्व अधिकतर बेकार में खर्च हो जाता है। सांसद श्री विजय हांसदा ने सदन के माध्यम से सरकार का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा कि देश के संतुलित विकास के लिए कोल इंडिया का मुख्यालय कोलकाता से हटाकर झारखंड राज्य के किसी जिला में स्थापित करने की मांग की।

Advertisements