भारत के मुसलमानों ने जिन्ना को नकार दिया, अब उनकी तस्वीर को हटाया जाना चाहिए-महमूद मदनी

2017_5$largeimg114_May_2017_123338127

अलीगढ़: अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर विवादों के बीच तस्वीर उस स्थान से गायब हो गई है। दूसरी तरफ कथित तौर पर तस्वीर हटाए जाने पर मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना महमूद मदनी ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा, ‘भारत के मुसलमानों ने जिन्ना को नकार दिया। जिन्ना की विचारधारा और विभाजन को भारत के मुसलमानों ने नकार दिया। हम ऐसी किसी चीज की उपस्थिति (जिन्ना की तस्वीर) के खिलाफ हैं। इसे हटाया जाना चाहिए।’

बता दें कि एएमयू में जिन्ना की तस्वीर होने पर विरोध लगातार तेज होने लगा था। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की हिंदू युवा वाहिनी ने जिन्ना की तस्वीर हटाने के लिए 48 घंटे का समय दिया था। हिंदू संगठन ने कहा कि दो दिन में तस्वीर नहीं हटाई गई तो वह खुद इसे हटाएंगे। हालांकि अब तस्वीर हटाए जाने पर मामला कुछ शांत होता नजर आ रहा है।

Advertisements