फाइनल में बांग्लादेश को हराकर भारत ने 7वीं बार जीता एशिया कप का खिताब

भारत ने आखिरी गेंद पर चले बेहद ही रोमांचक मुकाबले में बांग्लादेश को 3 विकेट से हराकर 7वीं बार एशिया कप का खिताब अपने नाम किया। भारत ने बांग्लादेश की ओर से दिए गए 223 रनों का लक्ष्य 50 ओवर में 7 विकेट गंवाकर हासिल कर लिया। केदार जाधव 23 और कुलदीप यादव 5 रन बनाकर नाबाद लौटे। इससे पहले टॉस हारकर भारत की तरफ से बल्लेबाजी का न्यौता पाने के बाद बांग्लादेश को ओपनर्स से शानदार शुरुआत मिली। इस मैच में लिटन दास और मेहदी हसन की सलामी जोड़ी ने ओपनिंग विकेट के लिए 120 रनों की साझेदारी की। मेहदी हसन 32 और लिटन दास 121 रन बनाकर आउट हुए। फाइनल मुकाबले में लिटन दास को उनकी शानदार शतकीय पारी के लिए ‘मैन आॅफ द मैच’ चुना गया। वहीं टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुने गए। उन्होंने एशिया कप 2018 में 5 मैच खेलकर, दो शतकों के साथ सत्तर से कुछ कम की औसत से 342 रन बनाए।

लेकिन बांग्लादेश की टीम इस शानदार शुरुआत का फायदा नहीं उठा सकी और लगातार अपने विकेट गंवाती रही। लिटन और मेहदी के अलावा सिर्फ सौम्य सरकार ही बांग्लादेश के लिए 33 रन का योगदान दे सके। इन तीनों के अलावा बांग्लादेश के बाकी 7 बल्लेबाज तो दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके। भारत की ओर से कुलदीप यादव सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने अपने कोटे के 10 ओवर में 45 रन देकर तीन विकेट झटके। केदार जाधव को 2 सफलता मिली। युजवेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह ने 1-1 विकेट हासिल किया। भारत का क्षेत्ररक्षण शानदार रहा और 3 बांग्लोदशी खिलाड़ी रन आउट होकर पवेलियन लौटे।

Advertisements