स्कूल में एमडीएम ठप, शिक्षा विभाग मौन

WhatsApp Image 2018-10-13 at 09.50.45

हंसडीहा (दुमका): सरैयाहाट प्रखंड के कसवा गांव में इन दिनों बच्चों के निवालों में भी शिक्षकों ने सेंधमारी कर दी है। हम बात कर रहे है कसबा मध्य विद्यालय की जहां कक्षा वन से आठ तक  की पढ़ाई होती है। विद्यालय में सैकड़ों बच्चों के बीच केवल दो शिक्षक कार्यरत हैं। जिसमें से प्रधान शिक्षक अक्सर  मिटिंग, बीईईओ कार्यालय, गुरू गोष्ठी, ज्ञान सेतु कार्यक्रमों में व्यस्त रहते हैं। बाकी बचे एक शिक्षक, जो बच्चों के बीच हँसते खेलते दिन गुजार रहे है। पढ़ाई के नाम पर खानापूर्ति तो हो ही रही है साथ ही एमडीएम भी काफी समय से बंद है।

ऐसी परिस्थिति में सरकार द्वारा करोड़ो रुपये खर्च कर चलाये जा रहे एमडीएम योजना से तो बच्चे वंचित हो ही रहे हैं साथ ही शिक्षा ना मिल पाने के कारण बच्चों का भविष्य भी अंधकारमय होने की स्थिति में है।

गांव के अभिभावक बताते है कि स्कूल में एमडीएम  बंद है और शिक्षा व्यवस्था चौपट है। इस विद्यालय की ओर बीईओ और डीएसई को कोई ध्यान नहीं है।

अभिभावकों ने यह भी कहा की जल्द से जल्द एमडीएम चालू नहीं हुआ और शिक्षा व्यवस्था में सुधार नहीं किया गया तो, वो आगे आकर विरोध प्रदर्शन करेंगे।

प्रधान शिक्षक ने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद बताया है ।

संवाददाता:  प्रवीण सिन्हा, हसडीहा, दुमका। 

 

Advertisements