रामनवमी को लेकर रांची में शांति समिति की बैठक, डीसी-एसएसपी ने दिये ये निर्देश…

  • रामनवमी को लेकर व्हाट्सएप ग्रुप बनाने का निर्देश
  • सोशल मीडिया पर पुलिस की पैनी नजर
  • अफवाह फैलानेवालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

रांची: रामनवमी को लेकर रांची उपायुक्त राहुल सिन्हा की अध्यक्षता में केन्द्रीय शांति समिति की बैठक हुई. बैठक में केन्द्रीय शांति समिति के सदस्योें ने रामनवमी के दौरान बेहतर व्यवस्था को लेकर अपनी-अपनी बातें रखी. साफ सफाई, वाहनों की व्यवस्था, अखाड़ों के जुलूस लाइसेंस, महिला पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति समेत कई सुझाव दिये.

हर संभव सहयोग के लिए प्रशासन तत्पर- डीसी

बैठक के दौरान उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने कहा कि प्रशासन अखाड़ा समितियों को हर संभव सहयोग के लिए तैयार है. बिजली व्यवस्था, सड़क के गड्ढों को भरना, साफ-सफाई, वाहनों की व्यवस्था, विभिन्न जुलूस और अखाड़ों के जुलूस के लाइसेंस रिन्यूअल, डीजे नियंत्रण, स्ट्रीट लाइट में सुधार, ट्रैफिक संचालन सुदृढ़ करना, शराब बंदी को लेकर उपलब्ध संसाधन के मुताबिक काम किया जाएगा. उन्होंने एडीएम लॉ एंड ऑर्डर को रामनवमी को ध्यान में रखते हुए व्हाट्सएप ग्रुप बनाने का निर्देश दिया. जिसमें प्रमुख संचालन समिति और पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी जुड़े रहेंगे, ताकि अति आवश्यक मामलों की जानकारी तुरंत से मिल सके. साथ ही इसमें सोशल मीडिया में आपत्तिजनक, गलत पोस्ट, नशा करनेवालों के बारे में सूचना भी शेयर हो सके.

सादे लिबास में भी रहेंगे पुलिसकर्मी – एसएसपी

बैठक के दौरान वरीय पुलिस अधीक्षक रांची किशोर कौशल ने कहा कि रामनवमी के दौरान आत्मसंयम और अनुशासन बेहद जरुरी है. उन्होंने कहा कि रुट को लेकर किसी प्रकार की संशय की स्थिति न हो, सभी अखाड़ा समितियां इसका ख्याल रखें, खास तौर ग्रामीण क्षेत्रों से निकलनेवाले जुलूस को लेकर एसएसपी ने निराकरण कर लेने की बात कही. कौन किधर से आ रहा है और किधर जा रहा है, इस पर आप लोग भी निगरानी रखें. एसएसपी ने कहा कि समितियां हर वर्ष की भांति अपने वॉलिंटियर्स की सूची संबंधित थानों को अवश्य दें. संभव हो तो वॉलिंटियर्स को टी-शर्ट, पहचान पत्र और बैच दें, जिससे उनकी आईडेंटिटी हो सके. और किसी तरह की बात होने पर आसानी से समन्वय स्थापित किया जा सके. एसएसपी ने कहा कि भीड़भाड़ वाले इलाकों में महिला कांस्टेबल की प्रतिनियुक्ति की जाएगी, साथ ही सादे लिबास में भी पुलिसकर्मी मौजूद रहेंगे.

डीजे को लेकर गाइडलाइन का हो पालन

बैठक के दौरान सभी समितियों ने कहा गया कि डीजे को लेकर जो गाइडलाइन जारी किया गया है, उसका पालन करें. एसएसपी किशोर कौशल ने कहा कि हाइकोर्ट भी इस मामले पर गंभीर है, जनहित में जो निर्देश दिए गए हैं उसका पालन कराने का यथासंभव प्रयास सभी समितियां करें. उन्होंने कहा कि इसे लेकर डीजे संचालकों के साथ बैठक भी की गई है, सभी से अंडरटेकिंग भी लिया गया है. किसी प्रकार से ऐसा म्यूजिक ना बजाया जाये कि समुदाय विशेष को नागवार गुजरे, यह समितियों की भी जिम्मेवारी है, लगातार इसकी मॉनिटरिंग करे. समितियां इसकी निगरानी भी करें कि अनावश्यक नारेबाजी न हो. नशा कर कोई भी व्यक्ति जुलूस में शामिल न हो, अखाड़ा समितियां भी इसका ध्यान रखें, ऐसे लोगों के खिलाफ विधिसम्मत कार्रवाई की जायेगी.

बैठक में ये लोग हुए शामिल

रांची समाहरणालय ब्लॉक ‘बी’ के कमरा संख्या-505 में आयोजित बैठक में कांके विधायक समरीलाल, नगर निगम के डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय, एसएसपी किशोर कौशल, ग्रामीण एसपी नौशाद आलम, सिटी एसपी एस जैन, ट्रैफिक एसपी एचबी जमां एसडीओ दीपक दुबे, अपर जिला दंडाधिकारी आरएन आलोक, अनुमंडल पदाधिकारी बुण्डू अजय कुमार, डीएसपी, अंचलाधिकारी, महावीर मंडल, शांति समिति, धार्मिक, समाजिक संगठनों के सदस्य मौजूद रहे.

ये भी पढ़ें: रामनवमी को लेकर झारखंड पुलिस की खास तैयारी, इन जिलों पर विशेष नजर