गांधी कोई व्यक्ति नहीं शास्वत विचारधारा हैं

भारत में गांधी की प्रासंगिकता पर भले ही सवाल उठाए जाएं, सवाल उठाने वालों की विचारधारा कुछ भी हो लेकिन इस हकीकत से इंकार नहीं किया जा सकता कि 21 वीं सदी में भी गांधीवाद वो करिश्माई दर्शन है, विचार धारा है जिसके जरिए आज भी विदेशों में शांति, सद्भाव व एकात्मकता को ढ़ूंढ़ा जाता है। एक वाकया, इसी 16 सितंबर का, जापान की काओरी … Continue reading गांधी कोई व्यक्ति नहीं शास्वत विचारधारा हैं